एनसीऍफ़इ, राष्ट्रीय वित्तीय शिक्षा केंद्र के बारे में

सभी वित्तीय क्षेत्र के नियामकों भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई), प्रतिभूति विनिमय बोर्ड(सेबी), भारतीय   बीमा विनियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDAI), पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (पीएफआरडीए), फॉरवर्ड मार्केट कमीशन (एफएमसी) और प्रतिभूति बाजार के राष्ट्रीय संस्थान (NISM) के प्रतिनिधियों को शामिल करके राष्ट्रीय वित्तीय शिक्षा केन्द्र (NCFE) की स्थापना करी गयी है जो वित्तीय स्थिरता और विकास परिषद (एफएसडीसी ), के वित्तीय समावेशन और वित्तीय साक्षरता के तकनीकी समूह के मार्गदर्शन के तहत वित्तीय शिक्षा के लिए राष्ट्रीय नीति (NSFE), को लागू करके देश कि जनसँख्या के सभी वर्गो कि जरूरतों को पूरा करेगा ।

 

एनसीऍफ़इकी मुख्य भूमिका वित्तीय शिक्षा सामग्री बनाने ,देश भर में जनसंख्या के सभी वर्गों के लिए वित्तीय शिक्षा अभियानों का संचालन और मौजूदा और संभावित ग्राहकों के लिए विभिन्न स्तरों पर जागरूकता अभियान चलना है, जिससे कि वह अपने ज्ञान, समझ, कौशल और क्षमता में सुधार कर सकें

 

लक्ष्य -एक आर्थिकरूप से जागरूक औरस शक्त भारत.

 

 

सन्देश -बड़े पैमाने पर वित्तीय शिक्षा अभियान आयोजित करके लोगों को अधिक प्रभावी ढंग से पैसे का प्रबंधन करने में मदद करना जिससे कि वह वित्तीय कुशलता कि और अग्रसर हों | इसके लिए उन वित्तीय उत्पाद और सेवाओं का ज्ञान देना जो कि उचित संस्थाओं द्वारा विनियमित हो और उपभोक्ता संरक्षण के रूप में उनकीशिकायतों को निस्तारित करने के लिए निस्पक्ष एवं पारदर्शी सुविधा हो.

 

 

NCFE Governing Board

 

Ms. Surekha Marandi, Executive Director, RBI

Mr. Gautam Prasad Borah, Chief General Manager, RBI

Mr. N Hariharan, Chief General Manager, SEBI

Ms. Yegnapriya Bharath, Chief General Manager, IRDAI

Ms. Sumeet Kaur Kapoor, Chief General Manager, PFRDA

Mr. A. Rajan, Interim CEO, NCFE